Friday, June 30, 2017

नमोस्कार ! बंधू -बांधवी लोगो ने कहा आज अंतर राष्ट्रिय ब्लॉगिंग दिवस है l हमहूँ मान लिए l सालों से बंद पड़े ब्लॉग को टटोला , बिचारा मुँह बिचकाये , धूल धूसरित , दैन्य भाव से देख रहा था मुझे.l अरे हाँ इस दैन्यता से प्रवीण पांडेय जी याद आये , "न दैन्यं न पलायनम" वाले .l चलो अब  इस ठिये पर आये तो सब याद आ जायेंगे . आज तो फ़िलहाल ब्लॉग बाबू का पासवर्ड ढूंढा , धूल साफ़ की , बढे  हुए केश मूच्छादि पर उस्तरा चलाया अब भाई साहब इंसान जैसे दिख रहे है .l
देखिये  अब यहाँ क्या लिखना है , इचिको भी समझ में नहीं आ रहा l लेकिन  बकौल फुरसतिया सुकुल  हम कुच्छो लिखेंगे , हमार कोई का बिगाड़ लेगा  और ख़राब लिखना ही लिखने की असली वाली सीढ़ी है, जो एकदम दीवाल से चिपकी रहती है . सुनिए , आज हम ज्यादा नहीं लिख सकते , दफ्तर में जी एस टी इंतज़ार कर रहा है और पत्नी फटकार रही है कि फिर शुरू हो गए इस मुए ब्लॉगिंग के साथ l लेकिन हम भी ठहरे बेशर्म टाइप के , इत्ता तो लिख दिए , कल से आप लोगो को फड़फड़ाती कविता से बोरियायेंगे .l
आज तो बस इत्ता ही . जय हो l

10 comments:

  1. पहले दिन सब ने हल्का फुल्का ही लिखा है |

    ReplyDelete
  2. पहली सीढ़ी चढ़ गए समझो पहुंच गए नीचे हम खड़े हैं,और साथ में ताऊ लठ्ठ लेकर पलटे तो समझिए धक्का खाएँगे हाँ नई तो! "अदा" जी याद आ गईं ऊपर पहुंचिए जल्दी कविता खड़ी मिलेगी ..👍

    ReplyDelete
  3. जे बात .... मन की बात ....

    ReplyDelete
  4. शुरुआत है ... आज दरवाज़े फिर खोले हैं ... अब आना जाना लगा रहेगा :)

    ReplyDelete
  5. अन्तर्राष्ट्रीय ब्लोगर्स डे की शुभकामनायें ..... हिन्दी ब्लॉग दिवस का हैशटैग है #हिन्दी_ब्लॉगिंग .... पोस्ट लिखें या टिपण्णी , टैग अवश्य करें ......

    ReplyDelete
  6. सही कहा लेकिन हम तो कहेंगे
    ताऊ के डंडे ने कमाल कर दिया
    ब्लोगर्स को बुला कमाल कर दिया

    #हिंदी_ब्लोगिंग जिंदाबाद
    यात्रा कहीं से शुरू हो वापसी घर पर ही होती है :)

    ReplyDelete
  7. अंतरराष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉग दिवस पर आपका योगदान सराहनीय है. हम आपका अभिनन्दन करते हैं. हिन्दी ब्लॉग जगत आबाद रहे. अनंत शुभकामनायें. नियमित लिखें. साधुवाद..
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  8. पुनः कविताएँ पढ़ने मिले ,आपके साहित्यिक शब्दों की प्रतीक्षा है !!

    ReplyDelete